Skip to main content

Posts

ठग ऑफ़ हिंदुस्तान की सच्ची कहानी

ठग ऑफ़ हिंदुस्तान की सच्ची कहानी


ठग एक ऐसा शब्द जिसे इतिहास के पन्नो में लिखा तो गया लेकिन इसे सिर्फ और सिर्फ इतिहास बना कर भुलाया नही जा सका। बल्कि समय समय पर इसकी बहुत सारी चर्चाएं भी होती रही और दोस्तों ठग की ही एक चर्चित कहानी पर बेस है अमीर खान की आने वाली फिल्म ठग ऑफ़ हिंदुस्तान।


यह फिल्म मूल रूप से 1839 में फिलिप मीडोज टेलर के द्वारा लिखी गयी नॉवेल कॉन्फेशन ऑफ़ ठग के ऊपर आधारित है। जहाँ भारत और ब्रिटिश के एक ठगी कल्चर के बारे में बताया गया है और दोस्तों यह नॉवेल पब्लिश होने के बाद से ही इतनी ज्यादा प्रसिद्ध हुई की इसे 19वी शताब्दी का बेस्ट सेल्लिंग बुक का टाइटल दिया गया और रानी विक्टोरिया भी इस नॉवेल की रीडर बनी।



दरअसल ठग शब्द एक समय पर शातिर चोरो और हत्त्यारो के लिए इस्तेमाल किया जाता था जो की कई सालों तक भारत के जगह जगह पर घूम कर चोरी किया करते थे और खास कर कस वह अंग्रेजो और व्यापारियों को अपना निशाना बनाया करते थे और कहा जाता है कि जब अंग्रेज़ो के हमारे देश के राजा महाराजा भी हार मान चूके थे तब इन ठगों ने अंग्रेज़ो के नाक में दम कर रखा था और इनका मर्डर करने का तरीका भी बहुत ही अ…
Recent posts

जानिए वैंपायर वूमेन के बारे में यह कौन है और यह कैसी है

Hindi Story of Real Life Vampire Woman:

संसार में ऐसे जुनूनी लोगों की कोई कमी नहीं है जो अलग दिखने की चाहत में कुछ भी कर सकते है। हम अपने ब्लॉग पर पहले भी बहुत कुछ अनोखे लोगो के बारे में बता चुके है पर आज की कहानी है खूबसूरत मेक्सिकन महिला मारिया क्रिस्टर्ना की जिसने अपने आप को एक रियल वैम्पायर में तब्दील कर लिया है।

मारिया किस्टर्ना:-या महिला एक ऐसी महिला है जिसने अपने आप को एकदम vampire में तब्दील करा लिया है इस महिला के ऊपर हुए अत्याचार से इसे उत्साह मिलती थी जिस का कारण यहां बना कि इस महिला ने अपने ऊपर टैटू बनवा लिए और अपने शरीर को इस तरह से उन्होंने तब्दील करवाया कि यहां आज के समय की वैंपायर वूमेन कहलाती है इन्हें अगर आप देख ले तो आप डर ही जाएंगे वैसे तो यह महिला पैसे से एक वकील हैं और लोगों की मदद करती है अपने ऊपर हुए अत्याचारों उसे यह दूसरी महिलाओं का दर्द समझ लेती है और वह अपने जैसी बहुत सी महिलाओं की मदद करती हैं लेकिन इनके टैटू और इनके पहनावे को देखकर कोई नहीं कह सकता है

कि यहां महिला कोई वकील है इस महिला को देखकर सब लोगों का यही कहना होता है यह तो एक दम पर हैं या महिला बहु…

फेसबुक का निर्माण कैसे हुआ

दोस्तों दुनिया में यु तो रोज़ाना हज़ारो लोग जन्म लेते है लेकिन कुछ लोग दुनिया बदलने के लुये पैदा होते है। मार्क ज़ुकेरबर्ग भी एक ऐसा नाम है जिसने अपने जीवन में ऐसी उचाईयो को छुआ है जहा पहुँचाना एक सामान्य व्यक्ति के लिए सपने के जैसा है। आज का हर युवा फेसबुक के मालिक मार्क ज़करबर्ग की तरह बनना चाहता है।






14 मई 1984 को मार्क ज़करबर्ग का जन्म हुआ। मार्क को बचपन से ही कंप्यूटर्स का बहुत शौक था जिसकी वजह से वह छोटी से उम्र से ही कंप्यूटर के प्रोग्राम लिखने लगे थे। उसके पिता उनको प्रोगरामिंग करने में बहुत मदद करते थे लेकिन मार्क का दिमाग इतना तेज़ था कि वह उनके सवालो के जवाब नही दे पाते थे। जिसके कारण मार्क के लिए उन्हें कंप्यूटर टीचर बुलाना पड़ा। जो मार्क को रोजाना कंप्यूटर प्रोगरामिंग सिखाया करता था। मार्क की तेज़ बुद्धि का अंदाज़ा इस बात से लगाया जा सकता है की छोटी सी उम्र में ही मार्क अपने कंप्यूटर टीचर को फ़ैल कर दिया करते थे। उनके अनुभवी टीचर भी उनकी बातों का जवाब नही दे पाते।


 मार्क ने 12 साल की छोटी उम्र में ही एक messanger बनाया। जिसका नाम उन्होंने zuck net रखा । zuck net का प्रयोग वह अपने घ…

मोनालिसा की तस्वीर एक रहस्य

मोनालिसा की तस्वीर एक रहस्य है और आज हम तुम्हें उस तस्वीर के बारे में कुछ जानकारी देते हैं

दुनिया में बहुत कम ऐसे लोग होते हैं जिनकी कला के लिए उन्हें मरने के बाद भी याद किया जाता है उनमें से एक कलाकार श्री लियोनार्डो डा विंची है इटली के राज्य के दौरान लियोनार्डो डा विंची एक कलाकार एक वैज्ञानिक व खोजकर्ता थे उनको आज तक उनकी प्रतिभा के लिए याद किया जाता है पुराने वृत्तपत्र दर्जी के द्वारा उन्हें सबसे शक्तिशाली व्यक्ति का दर्जा दिया गया है श्री लियोनार्डो डा विंची का जन्म 15 अप्रैल 1452 इटली के एक शहर विंची नामक शहर में हुआ था असल में श्री लियोनार्डो डा विंची मैं उनका नाम नहीं विंची उनके जन्म स्थान का स्थल है और जैसा कि आप लोग सब जानते हैं लियोनार्डो विंची के नाम से लेकर उनकी मृत्यु तक सब रहस्य है इसलिए आज हम उनकी सबसे मशहूर पेंटिंग मोनालिसा का कुछ रहस्य आपको बताने जा रहे हैं

दुनिया में जो सबसे मशहूर और सबसे रहस्य में पेंटिंग है वह मोनालिसा की पेंटिंग है इस पेंटिंग में दुनियाभर को सोचने पर मजबूर कर दिया है मैं जानता हूं मोनालिसा की पेंटिंग के बारे में सुनते ही आपके मन में बहुत से सवाल उ…

अमेरिका के इतिहास ही रोमांचक कहानी

अमेरिका के इतिहास ही रोमांचक कहानी




अमेरिका का इतिहास भारत के इतिहास जैसा पुराना नही है। भले ही हज़ारो साल पहले मानव ने अमेरिका पर बसना शुरू कर दिया था पर फिर भी इसके इतिहास की शुरुआत 1492 से की जाती है। जब कॉलोम्बस ने भारत के खोजने के प्रयास में अमेरिका की खोज के डाली थी। सन 1492 ईसवीं में कॉलोम्बस भारत से यूरोप जाने वाला समुंद्री रास्ता खोजने निकल पडा। उसे पूरा विश्वास था कि पृथ्वी गोल है और पश्चिम की तरफ समुन्द्र के रास्ते जाने से भारत पहुँचा जा सकता है पर उस समय कॉलम्बोस समेत यूरोपियन लोगों को इस बात की जानकारी नही थी की पृथ्वी पर यूरोप,एशिया जैसे और भी बड़े बड़े महाद्वीप मौजूद है।




समुद्री यात्रा करते हुए कॉलम्बोस जब अमेरिकी महाद्वीप के पास स्थित द्वीप पर पहुँचा तब उसे लगा की वो भारत के पास किसी द्वीप पर पहुंच गया है। बाद में उसने कई और द्वीपो पर भी यात्रा की जहा पर उसे कई आदिवासी मिले जो थोड़े लाल रंग के थे। कॉलम्बोस ने उन्हें भारतीय समझ कर रेड इंडियन नाम दे दिया। रेड इंडियन लोग ही अमेरिका के मूल निवासी कहलाए। जब कॉलोम्बस ने स्पेन जाकर बताया कि उसने भारत की खोज कर ली है तो यह बात आग …

हिटलर को लोग तानाशाह क्यों कहते थे हिटलर की कहानी

तानाशाह अडोल्फ हिटलर की कहानी





अडोल्फ हिटलर एक ऐसा इन्सान जिससे आज के समय में हर एक इंसान नफरत करता है जिसकी वजह से हज़ारो लाखो नही बल्कि करोडो जाने गयी। यही वह इंसान था जिसके वजह से दुनिया को सबसे ज्यादा नुकसान पहुचाने वाला विश्व युद्ध शुरू हुआ। तानाशाह हिटलर के नाम का ख़ौफ़ इतना ज्यादा था कि न सिर्फ जर्मनी के लोग बल्कि पूरी दुनिया ही उसके नाम से काँपती थी। लेकिंग दोस्तों आज के समय में जिस हिटलर से पूरी दुनिया नफरत करती है वह अपने समय में बहुत ही प्रभावशाली नेता था। उसके भाषण में इतना दाम हुआ करता था कि वह बड़े ही आसानी से लोगों को आकर्षित कर लेता था और यही वजह थी की वह इतनी बड़ी नाज़ी सेना बनाने में कामयाब रहा और दोस्तों एक समय पर पादरी बनने की चाह रखने वाला कैसे बना दुनिया का सबसे बड़ा तानाशाह चलिये जानते है।





तो दोस्तों इस कहानी की शुरुआत होती है 20 अप्रैल 1889 से जब ऑस्ट्रेलिया के BRAUNAU AMINN नाम की जगह लार अडोल्फ हिटलर का जन्म हुआ। उनके पिता का नाम अलोइस हिटलर और माँ का नाम क्लारा पोल्ज़ल था और दोस्तों हिटलर की माँ क्लारा हिटलर के पिता की तीसरी पत्नी थी। हिटलर अपनी माँ की चौथी संतान थे…

भविष्य की दुनिया की एक झलक

दोस्तों मैं आज आपको बताने जा रहा हूं अपनी इस अद्भुत दुनिया के बारे में अद्भुत दुनिया के बारे मैं जैसे कि हम सब जानते हैं एक कॉमन सा सवाल जो हमारे दिमाग में चलता रहता है भविष्य में कैसी होगी हमारी दुनिया आज की टेक्नोलॉजी को देखते हुए हम सब तैयार सोचते ही होंगे प्यार हम सब बहुत लकी हैं जो हम इस एडवांस टेक्नोलॉजी को यूज कर पा रहे हैं लेकिन दोस्तों हर जनरेशन के लोग ऐसा ही सोचते हैं लेकिन यह भी कहना गलत नहीं होगा साइंस और टेक्नोलॉजी के मामले में जो हमने तरक्की की है वह बहुत ही जल्दी की है क्योंकि आज की टेक्नोलॉजी हम यूज कर रहे हैं वह आज से 40 50 साल पहले महेश एक कल्पना ही थी अब केवल 40 और 50 साल के अंदर हमारी टेक्नोलॉजी बहुत एडवांस हो चली है तो दोस्तों आज मैं बताऊंगा कैसा होगा हमारा फ्यूचर

आज से 150,200 साल पहले इंसान की एवरेज लाइव 40 से 50 साल थी जो आज बढ़कर सन 2018 में 70 से 80 साल हो चुकी है आपने कई बार सुना होगा कि पहले के लोग ज्यादा जिया करते थे लेकिन दोस्तों वह सिर्फ कहीं बातें हैं हमारे पास इसका कोई भी प्रूफ नहीं है पहले के लोग जाता इसलिए नहीं जी पाते थे

 क्योंकि उनके पास आज के लोग…