Skip to main content

दुनिया की पांच एसी पर्जातिया जो विलुप्त हो चुकी है

दुनिया की पांच एसी पर्जातिया जो विलुप्त हो चुकी है

जैसा कि आप सब जानते है कि प्राचीन समय में ऐसे कई जीव जंतु थे जो समय के साथ विलुप्त हो गए है कुछ जानवरो की विलुप्ति का कारण था जल वायु परिवर्तन और कुछ जानवरो कि विलुप्ति का कारण था मानव जो कि लगातार उनके इलाके म घुसपैठ और उनका सिकर कर रहे थे
तो में आज आप सब को ऐसे पांच जानवरो की प्रजातियों के बारे में बताऊंगा को विलुप्त हो चुकी है या होने की कदर पर है

1.Wooly Mammoth

Wooly mammoth एक विशाल स्तन पाई माना जाता है यह कुछ हद तक आज कल के हाथियों जैसे दिखाई देते थे और ऐसा माना जाता है कि इनके पुरवाज लगभग 4 करोड़ साल पहले अफ्रीका से बाहर चले आए थे और उत्तरी अमेरिका और उत्तरी एशिया बार में फेल गए और यह mammoth 4 मीटर से भी लंबे होते थे और उनका वजन 6 तन से भी आधिक होता है और इनका पूरा का पूरा शरीर बलो से डाका होता था और इनके पास लंबे घुमाव दार दात होते थे
उन दतो की लंबाई 5 मीटर से भी अधिक होती थी वैज्ञानिकों का मानना है कि वुली mammoth मानव द्वारा सिकर और जल वायु परिवरतन कि मार नहीं सह पया और लगभग आज से 10 साल पहले विलुप्त हो गया और ऐसा माना जाता है कि वुली mammot की आखिरी आबादी 1700 ईसा पूर्व के आस पास अर्टिक महासागर के व्येंगल दीप से गायब हुई थी और इन mammoth कि ताक़त आजकल के हाथियों से 20 गुना जायदा हुआ करती थी

2.Steller Sea Cow


इनका यह नाम प्रकर्ती वादी जॉर्ज स्टेलर के नाम पर रखा गया था जिन्होंने 1741 में इस जानवर की खोज की थी स्टेलर सी काउ एक सकाहरी स्तन पाई थी और यह 8-9 मीटर तक बड़ सकते थे एवम् इनका वजन 8 से 10 तन तक होता था इनका प्रकर्तिक निवास मुख्य रुक से दक्षिण- पश्चिम अलास्का एवम् बेरिंग सागर का कंमाडर दीप हुआ करता था यह जानवर बोहोत ही वजन के हुआ करते थे
और लगभग अपना सारा समय सिवड जो कि एक समुद्री घास है उसे कहते हुए बिताती थी और वैज्ञानिकों का मानना है कि यही है जो कि उनकी विलुप्ति का कारण बना होगा क्युकी यहां आसानी से सामने आ जाया करते थे इसलिए यह युरोपीन दुव्र खोज जाने के 27 बरस बाद ही यह पूरी तरहा विलुप्त हो गए थे इनका सिकर युरोपिन इसलिए भी जायदा करते दे क्युकी इनका सुवाद बोहोत ही लज़ीज़ हुआ करता था

3. Sabre toothed cat 


इन्हे अक्सर सब्रे टूथ टाइगर या सब्रे टूथ लियोन कहा जाता है यह 55 लाख से 11700 साल पहले पाए जाते थे और इनका यह नाम इनके लंबे चाकू जैसे पैने दात की वजह से दिया गया है यह जानवर भालू कि तरह दिखते थे और यह अपने समय के सबसे बड़े शिकारी माने जाते है यह अपने समय के बड़े बड़े जानवर जैसे सिलोर और मेमद का शिकार किया करते थे
इनका जबड़ा बोहोत ही मजबूत होता था जो कि 120° के कोण में भी खुल सकता था इनके विलुप्त होने के पीछे मुख्य रूप से दो कारण दिए जाते है जिसमें से पहला कारण था बड़े बड़े शिकार का विलुप्त हो जाना और दूसरा कारण था मनुस्यो के साथ आती स्प्रधा और जल वायु परिवर्तन यह इन स्पर्धा और जल वायु परिवर्तन को झेल नहीं पाए इसलिए यहां धीरे धीरे विलुप्त हो गए

4. Dodo

Dodo एक ना उड़ पाने वाला पक्छी था जो कि मॉरीशस में पाया जाता था इन कि लंबाई 1 मीटर हुआ करती थी और इनका वजन 10 से 18 किलो तक हुआ करता था डोडो की उपस्तिथि को लेकर मत भेद है क्युकी इसका उल्लेख चित्रों और 17वी सदी में लिखे गए खातो में ही मिलता है और यह पक्छी जमीन में पाए जाने वाले बिजो,खनिजों,जड़ों पर गिरे हुए फलो के कारण जमीन में ही रहने लगे डाच नविको ने इसका सबसे पहले उल्लेख 1598 में किया था
यह पक्छी पालतू जानवरों एवम् शिकारियों के कारण पूरी तरह विलुप्त हो गए आखिरी डोडो सन 1665 में देखा गया था जिसे लोगो ने बिना मतभेद के शिकार किया था लोग इसका शिकार इसलिए आसानी से कर लेते थे क्युकी यह उड़ता नहीं था और जल्दी हाथ लग जाया करता था इस कारण यह जल्द ही विलुप्त हो गए

5. West African Black Rhinoceros


वेस्ट अफ्रीकन ब्लैक रहिनोसेरोस मुख्य रूप से अफ्रीका के दक्षिण पूर्वी क्षेत्र में पाए जाते थे यह 3 से 4 मीटर तक लंबे होते थे तथा इनका वजन 800 से 1300 तक होता था और इनके दो सिंग हुआ करते थे एवम् इनका आहार मुख्य रूप से पत्ते दार पोधे एवम् झाड़ियां हुआ करती थी इनके विलुप्त होने का कारण उनके सिंग को माना जाता है
क्युकी इनके सिंग में कई ओसिधी गुण मौजूद थे पर वैज्ञानिक इस बात को नकारते थे और 1930 में इनको बचने हेतु कई परियास किए गए लेकिन फिर भी इनकी संख्या में गिरावट आती रही और ऐसे ही धीरे धीरे सब खत्म हो गए आखिरी क कला राइनो 2006 में केमरून में देखा गया था जिसके बाद इन्हे कभी नहीं देखा गया और फिर 2011 में इन्हे आधिकारिक रूप से विलुप्त घोषित कर दिया गया था

इसी ओर भी जानकारी प्राप्त करने के लिए subscribe करे और कमेंट करके हमें बताएं आपको ये जानकारी किसी लगी। अगर आप को कोई और भी जानकारी जननी हो तो हमें कमेंट में लिख कर बताएं हम आपको अपना पुण् सैंयोग देंगे धन्यवाद

Comments

Post a Comment

Popular posts from this blog

दुनिया की खतरनाक पाच पर्जातिया

क्या आप सब यह जानते है की हमारी दुनिया में कितनी खतरनाक खतरनाक जीव की प्रजातियां पाई जाती है कुछ जीव तो देखने में बोहोत ही सरल और अच्छे दिखाई देते है पर बोहोत ही खतरनाक होते है तो में कुछ जीवो के बारे में आप सभी को बताता हूं 

1.ब्राजीलियन वेंडिंग स्पाइडर
यहां स्पाइडर साउथ अफ्रीका के घाने जंगल में पाई जाती है और गिनीस बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड के अनुसार इस मकड़ी को सबसे ख़तनाक मकड़ी माना जाता है और यह मकड़ी इतनी खतरनाक है यह अपने सिकार की तरफ बड़ी ही तेजी से जाती है और एक ही पल में अपने सीकार का खतामा कर देती है और यह मकड़ी अपने से तीन गुना जायदा बड़े सीकर को भी आसानी से मार देती है इसलिए इस मकड़ी को सबसे ख़तरनाक मकड़ी मानी जाती है.

2. पिराना फिश
इसके ईन नोकीले दातो की वजह से से ही इस मछली का नाम पिराना फिश रखा गया है इस मछली के यह दात किसी बिल्ड से कम नहीं होते है यहां दात इतने पेने होते है कि एक ही वार में किसी भी इन्सान के दो टुकड़े कर सकती है पिराना फिश समुन्दर या बड़ी नदी में बोहोत अधिक मात्रा में पाई जाती है और यह मछली अक्सर झुंड म सीकर करती है और आगर कोई सीकर इनके चुंगुल में फस जाता ह…

ज्ञान की सबसे अच्छी बात

ज्ञान की सबसे अच्छी बात

ज्ञान किसी व्यक्ति या किसी चीज़, जैसे तथ्यों, सूचनाओं, विवरणों या कौशल की परिचितता, जागरूकता या समझ है, जिसे अनुभव, शिक्षा, या सीखने के द्वारा अनुभव या शिक्षा के माध्यम से अधिग्रहित किया जाता है। ज्ञान किसी विषय की सैद्धांतिक या व्यावहारिक समझ को संदर्भित कर सकता है। यह अंतर्निहित (व्यावहारिक कौशल या विशेषज्ञता के साथ) या स्पष्ट हो सकता है (जैसा कि किसी विषय की सैद्धांतिक समझ के साथ); यह कम या ज्यादा औपचारिक या व्यवस्थित हो सकता है। ज्ञान के अध्ययन को महामारी कहा जाता है; दार्शनिक प्लेटो ने प्रसिद्ध रूप से "उचित सत्य विश्वास" के रूप में परिभाषित ज्ञान को परिभाषित किया है, हालांकि इस परिभाषा को अब कुछ विश्लेषणात्मक दार्शनिकों द्वारा उद्धृत किया गया है [उद्धरण वांछित] समस्याग्रस्त होने के कारण गेटियर की समस्याएं अन्यथा प्लैटोनिक परिभाषा की रक्षा करती हैं। हालांकि, ज्ञान की कई परिभाषाएं और सिद्धांतों को समझाने के लिए सिद्धांत मौजूद हैं।

आपकी सबसे प्रिय हिन्दी कविता कौन सी है?

मुझे सबसे अधिक हिंदी की दो कवितायें पसंद है | एक तो पुष्प की अभिलाषा जिसका उल्लेख अनेक उत्तरो में हुआ है, फिर भी मैं नीचे दोबारा लिखती हूँ : चाह नहीं मैं सुरबाला के गहनों में गूँथा जाऊँ, चाह नहीं, प्रेमी-माला में बिंध प्यारी को ललचाऊँ, चाह नहीं, सम्राटों के शव पर हे हरि, डाला जाऊँ, चाह नहीं, देवों के सिर पर चढ़ूँ भाग्य पर इठलाऊँ। मुझे तोड़ लेना वनमाली! उस पथ पर देना तुम फेंक, मातृभूमि पर शीश चढ़ाने जिस पर जावें वीर अनेक - माखनलाल चतुर्वेदी दूसरी कविता हैं, जो बीत गयी सो बात गयी| जीवन में एक सितारा था माना वह बेहद प्यारा था वह डूब गया तो डूब गया अम्बर के आनन को देखो कितने इसके तारे टूटे कितने इसके प्यारे छूटे जो छूट गए फिर कहाँ मिले पर बोलो टूटे तारों पर कब अम्बर शोक मनाता है जो बीत गई सो बात गई जीवन में वह था एक कुसुम थे उसपर नित्य निछावर तुम वह सूख गया तो सूख गया मधुवन की छाती को देखो सूखी कितनी इसकी कलियाँ मुरझायी कितनी वल्लरियाँ