Skip to main content

Posts

Showing posts from August, 2018

मोनालिसा की तस्वीर एक रहस्य

मोनालिसा की तस्वीर एक रहस्य है और आज हम तुम्हें उस तस्वीर के बारे में कुछ जानकारी देते हैं

दुनिया में बहुत कम ऐसे लोग होते हैं जिनकी कला के लिए उन्हें मरने के बाद भी याद किया जाता है उनमें से एक कलाकार श्री लियोनार्डो डा विंची है इटली के राज्य के दौरान लियोनार्डो डा विंची एक कलाकार एक वैज्ञानिक व खोजकर्ता थे उनको आज तक उनकी प्रतिभा के लिए याद किया जाता है पुराने वृत्तपत्र दर्जी के द्वारा उन्हें सबसे शक्तिशाली व्यक्ति का दर्जा दिया गया है श्री लियोनार्डो डा विंची का जन्म 15 अप्रैल 1452 इटली के एक शहर विंची नामक शहर में हुआ था असल में श्री लियोनार्डो डा विंची मैं उनका नाम नहीं विंची उनके जन्म स्थान का स्थल है और जैसा कि आप लोग सब जानते हैं लियोनार्डो विंची के नाम से लेकर उनकी मृत्यु तक सब रहस्य है इसलिए आज हम उनकी सबसे मशहूर पेंटिंग मोनालिसा का कुछ रहस्य आपको बताने जा रहे हैं

दुनिया में जो सबसे मशहूर और सबसे रहस्य में पेंटिंग है वह मोनालिसा की पेंटिंग है इस पेंटिंग में दुनियाभर को सोचने पर मजबूर कर दिया है मैं जानता हूं मोनालिसा की पेंटिंग के बारे में सुनते ही आपके मन में बहुत से सवाल उ…

अमेरिका के इतिहास ही रोमांचक कहानी

अमेरिका के इतिहास ही रोमांचक कहानी




अमेरिका का इतिहास भारत के इतिहास जैसा पुराना नही है। भले ही हज़ारो साल पहले मानव ने अमेरिका पर बसना शुरू कर दिया था पर फिर भी इसके इतिहास की शुरुआत 1492 से की जाती है। जब कॉलोम्बस ने भारत के खोजने के प्रयास में अमेरिका की खोज के डाली थी। सन 1492 ईसवीं में कॉलोम्बस भारत से यूरोप जाने वाला समुंद्री रास्ता खोजने निकल पडा। उसे पूरा विश्वास था कि पृथ्वी गोल है और पश्चिम की तरफ समुन्द्र के रास्ते जाने से भारत पहुँचा जा सकता है पर उस समय कॉलम्बोस समेत यूरोपियन लोगों को इस बात की जानकारी नही थी की पृथ्वी पर यूरोप,एशिया जैसे और भी बड़े बड़े महाद्वीप मौजूद है।




समुद्री यात्रा करते हुए कॉलम्बोस जब अमेरिकी महाद्वीप के पास स्थित द्वीप पर पहुँचा तब उसे लगा की वो भारत के पास किसी द्वीप पर पहुंच गया है। बाद में उसने कई और द्वीपो पर भी यात्रा की जहा पर उसे कई आदिवासी मिले जो थोड़े लाल रंग के थे। कॉलम्बोस ने उन्हें भारतीय समझ कर रेड इंडियन नाम दे दिया। रेड इंडियन लोग ही अमेरिका के मूल निवासी कहलाए। जब कॉलोम्बस ने स्पेन जाकर बताया कि उसने भारत की खोज कर ली है तो यह बात आग …

हिटलर को लोग तानाशाह क्यों कहते थे हिटलर की कहानी

तानाशाह अडोल्फ हिटलर की कहानी





अडोल्फ हिटलर एक ऐसा इन्सान जिससे आज के समय में हर एक इंसान नफरत करता है जिसकी वजह से हज़ारो लाखो नही बल्कि करोडो जाने गयी। यही वह इंसान था जिसके वजह से दुनिया को सबसे ज्यादा नुकसान पहुचाने वाला विश्व युद्ध शुरू हुआ। तानाशाह हिटलर के नाम का ख़ौफ़ इतना ज्यादा था कि न सिर्फ जर्मनी के लोग बल्कि पूरी दुनिया ही उसके नाम से काँपती थी। लेकिंग दोस्तों आज के समय में जिस हिटलर से पूरी दुनिया नफरत करती है वह अपने समय में बहुत ही प्रभावशाली नेता था। उसके भाषण में इतना दाम हुआ करता था कि वह बड़े ही आसानी से लोगों को आकर्षित कर लेता था और यही वजह थी की वह इतनी बड़ी नाज़ी सेना बनाने में कामयाब रहा और दोस्तों एक समय पर पादरी बनने की चाह रखने वाला कैसे बना दुनिया का सबसे बड़ा तानाशाह चलिये जानते है।





तो दोस्तों इस कहानी की शुरुआत होती है 20 अप्रैल 1889 से जब ऑस्ट्रेलिया के BRAUNAU AMINN नाम की जगह लार अडोल्फ हिटलर का जन्म हुआ। उनके पिता का नाम अलोइस हिटलर और माँ का नाम क्लारा पोल्ज़ल था और दोस्तों हिटलर की माँ क्लारा हिटलर के पिता की तीसरी पत्नी थी। हिटलर अपनी माँ की चौथी संतान थे…

भविष्य की दुनिया की एक झलक

दोस्तों मैं आज आपको बताने जा रहा हूं अपनी इस अद्भुत दुनिया के बारे में अद्भुत दुनिया के बारे मैं जैसे कि हम सब जानते हैं एक कॉमन सा सवाल जो हमारे दिमाग में चलता रहता है भविष्य में कैसी होगी हमारी दुनिया आज की टेक्नोलॉजी को देखते हुए हम सब तैयार सोचते ही होंगे प्यार हम सब बहुत लकी हैं जो हम इस एडवांस टेक्नोलॉजी को यूज कर पा रहे हैं लेकिन दोस्तों हर जनरेशन के लोग ऐसा ही सोचते हैं लेकिन यह भी कहना गलत नहीं होगा साइंस और टेक्नोलॉजी के मामले में जो हमने तरक्की की है वह बहुत ही जल्दी की है क्योंकि आज की टेक्नोलॉजी हम यूज कर रहे हैं वह आज से 40 50 साल पहले महेश एक कल्पना ही थी अब केवल 40 और 50 साल के अंदर हमारी टेक्नोलॉजी बहुत एडवांस हो चली है तो दोस्तों आज मैं बताऊंगा कैसा होगा हमारा फ्यूचर

आज से 150,200 साल पहले इंसान की एवरेज लाइव 40 से 50 साल थी जो आज बढ़कर सन 2018 में 70 से 80 साल हो चुकी है आपने कई बार सुना होगा कि पहले के लोग ज्यादा जिया करते थे लेकिन दोस्तों वह सिर्फ कहीं बातें हैं हमारे पास इसका कोई भी प्रूफ नहीं है पहले के लोग जाता इसलिए नहीं जी पाते थे

 क्योंकि उनके पास आज के लोग…

इंग्लैंड की महारानी एलिज़ाबेथ-II के बारे में कुछ रोचक बातें।

दोस्तों आज हम जानेंगे इंग्लैंड की महारानी एलिज़ाबेथ-II के बारे में कुछ रोचक बातें जो शायद आपको नही पता होगी।




वे सिर्फ इंग्लैंड की ही महारानी नही है बल्कि ऑस्ट्रेलिया, न्यूज़ीलैंड और कनाडा की भी महारानी है। वे सन 1952 से राज कर रही है। महारानी एलिजाबेथ-II का जन्म 21 अप्रैल 1926 में हुआ था। उनके पिता का नाम जोर्ड-VI और माता का नाम एलिज़ाबेथ था। महारानी एलिजाबेथ ने 1945 में प्रिंस फिलिप से शादी की और उनकी बहन थी प्रिंसेस मार्ग्रेट। भारत की आज़ादी के बाद से अब तक महारानी एलिजाबेथ ने 3 बार भारत का दौरा किया। वे पहली बारे अपने पति प्रिंस फिलिप के साथ 1961 में भारत घूमने के लिए थे। तब उन्होंने मुम्बई चेन्नई जैसे बड़े बड़े शहरों का दौरा किया।




चलिये जानते है महारानी एलिजाबेथ के कुछ ऐसे अधिकार जिनके बारे में जान कर आप हैरान ही जायेंगे। भले ही महारानी एलिज़ाबेथ की धन संपत्ति कम है पर उनके पास जो ताकत है वो दुनिया की किसी दूसरी महिला के पास नही है। वे दुनिया की ऐसी ताकतवर महिला है जो किसी भी कानून से ऊपर है। महारानी II- एलिजाबेथ को गाड़ी चलाने के लिए ड्राइविंग लाइसेंस की जरूरत नही पड़ती है। वो किसी भी दे…

"सुंदरबन" भारत का स्वर्ग

दोस्तो मैं आपको बताने जा रहा हूं ऐसी बातें जो शायद लोग जानते हैं भारत का एक प्रसिद्ध वन जिसे लोग सुंदरबन के नाम से भी जानते हैं मैं आज आपको यह बताऊंगा कि सुंदरबन में ऐसी क्या खास बात है जिससे लोग उसे देखने के लिए बहुत ही उत्सुक रहते हैं और क्या उसमें ऐसे जानवर है जिनसे लोग बहुत ही भयभीत हुआ करते हैं

सुंदरवन:-यह एक ऐसा वन है जो पूरे विश्व के लोगों को अपनी ओर आकर्षित करता है यहां पर बहुत अनेक वनस्पतियां पाए जाते हैं वैसे तो हमारे भारत देश में बहुत से ऐसे वन है जो बहुत ही वनस्पतियों से भरे हुए हैं लेकिन सुंदरवन को जन्नत माना जाता है क्योंकि इसकी सुंदरता इतनी ही अद्भुत है जितना कि इसके अंदर खतरनाक जानवर है यह भारत के बहुत ही डरावने जंगलों में से एक जंगल माना जाता है क्योंकि इस जंगल में जो रहते हैं

उनके खौफ से आकर्षित होकर पूरी दुनिया के लोग उसे देखने आते हैं और उसकी एक झलक पाने के लिए अपनी जान को जोखिम में डाल देते हैं सुंदरबन पश्चिम बंगाल में 10 किलोमीटर वर्ग सेंटीमीटर में फैला हुआ एक जंगल है सुंदरवन को मैंग्रोव फारेस्ट भी कहा जाता है सुंदरबन यह बहुत ही खूबसूरत है इसके अंदर इतने वनस्पतिय…

emergency क्या है और यह क्यों लगाई गई थी

सन 1975 की इमरजेंसी की घटनाओं का वर्णन इंटरनेट से जानकारी इकट्ठा करके बताया गया है इस आर्टिकल का उद्देश्य लोगों तक न्यूज़ एजेंसी की जानकारी पहुंचाना है यह जानकारी सिर्फ एजुकेशन पर्पस और लोगों की नॉलेज के लिए है
आज हम बात करने वाले हैं उस एमरजेंसी की जिसने 25 जून 1975 की आधी रात को देश की डेमोक्रेसी को डिक्टेटरशिप में तब्दील कर दिया था 26 जून 1975 से 23 मार्च 1977 तक इस समय में देश में क्या-क्या घटा आ गई उनकी बात करने जा रहे हैं इस बात का ज्यादातर भारतीयों को पता नहीं है लेकिन लोगों को यह मालूम होना चाहिए कि इमरजेंसी के समय क्या हुआ और क्यों हुआ

बात की शुरुआत होती है सन 1971 से जब श्रीमती इंदिरा गांधी उत्तर प्रदेश के रायबरेली क्षेत्र से लोकसभा सीट के लिए लड़ी और 182309 वोटों से जीती हारने वाली पार्टी के उम्मीदवार संयुक्त राज्य पार्टी के अध्यक्ष राज नारायण थे जो कि स्वतंत्रता सेनानी रह चुके हैं उन्होंने अपनी हार के बाद इंदिरा गांधी के इस चुनाव पर केस कर दिया उनका कहना यह था कि चुनाव के दौरान धोखाधड़ी की गई है कि जिससे मैं हारा हूं कभी कोई प्रधानमंत्री कोर्ट में हाजिर नहीं हुआ था लेकिन …

4600 साल पुराना मोहनजोदड़ो का इतिहास

4600 साल पुराना मोहनजोदड़ो का इतिहास


आज जो जिंदगी हम जी रहे है इससे सभ्य जिंदगी तो हज़ारो साल पहले मोहनजोदड़ो के लोग जिया करते थे। जो लगभग 4600 साल पहले मिट्टी के नीचे दफन हो गए।



दरअसल मोहनजोदड़ो का मतलब होता है मुर्दो का टीला दक्षिण एशिया में बसे इस शहर को सबसे पुराना शहर माना जाता है। इतने पुराने शहर को इतने अच्छे ढंग से बनाया गया है जिसकी कल्पना भी हम नही कर सकते है। पाकिस्तान के सिंध में ये लगभग 4600 साल पहले इसका निर्माण हुआ था इसमें बड़ी बड़ी इमारते, जल कुंड, सुन्दर चित्रकारियां, मिट्टी के बने बर्तन, मुद्राये, मूर्तियां और भी ना जाने बहुत सी चीज़े मिली हुई थी। जिससे ये पता चलता है कि यहाँ एक व्यवस्थित शहर बना हुआ था। जैसे आज हम लोग घरों में रहा करते है वैसे ही 4600 साल पहले वे लोग भी घरो में रहा करते थे खेती भी किया करते थे। मिट्टी के नीचे दबे इस रहस्य को जानने के लिए कई लोग उत्साहित है और इसी कारण से कई बार इसकी खुदाई शुरू भी हुआ और बंद भी हुआ। ये शहर 200 हेक्टेयर में बाटा हुआ है। ऐसा माना जाता है कि अभी तक सिर्फ इसके 1/3 भाग का ही खुदाई हो पाया है इस प्राचीन सभ्यता के कारण ही पाकिस्…

ग़रीबी से अमीरी का सफ़र "बिल गेट्स"

ग़रीबी से अमीरी का सफ़र
Bill Gates 
जैसे कि आप सब जानते ही होने कि बिल गेट्स हमारी दुनिया के सबसे अमीर लोगो में से एक है और यह दुनिया के सबसे अमीर आदमी भी रहे चुके है पर अब वहा दूसरे नम्बर पर आते है अब हमारी दुनिया का सबसे अमीर आदमी है Jeff Bezos और इनकी दौलत है 112 बिलियन अमेरिकी डॉलर और बिल गट्स कि 90 बिलियन अमेरिकी डॉलर अगर हम इसे इंडियन रूपीस में देखे तो ये होंगे 5800000000000 बिल गेट्स लगभग 1 मिनट में 1500000 रुपए कमा लेते है लेकिन 2017 के दौरान बिल गट्स ही सबसे आगे थे आज हम आपको उनके इस गरीबी के सफ़र से अमीरी तक की दास्तान बताता हूं

इनका जन्म सिएटल वोसिंगतांग यूनाइटेड स्टेट ऑफ अमेरिका  28 अक्टूबर 1955 में हुआ था उनका पूरा नाम है विलियम हेनरी गेट्स उनके पिता का नाम विलियम हेनरी गेट्स सीनियर और उनकी माता का नाम मेरी मैक्सवेल गेट्स था जब बिल गेट्स बड़े हुए तो उनके माता-पिता ने उनका दाखिला लेकसाइड वाले स्कूल में कराया जो कि सिएटल में मौजूद उस समय का सबसे अच्छा स्कूल था और बिल गेट्स स्कूल में बहुत ही इंटेलिजेंट साबित हुए थे वह बहुत अच्छे से पढ़ाई करते थे उन्हें बचपन से ही एक पढ़ने की …