Skip to main content

भविष्य की दुनिया की एक झलक



दोस्तों मैं आज आपको बताने जा रहा हूं अपनी इस अद्भुत दुनिया के बारे में अद्भुत दुनिया के बारे मैं जैसे कि हम सब जानते हैं एक कॉमन सा सवाल जो हमारे दिमाग में चलता रहता है भविष्य में कैसी होगी हमारी दुनिया आज की टेक्नोलॉजी को देखते हुए हम सब तैयार सोचते ही होंगे प्यार हम सब बहुत लकी हैं जो हम इस एडवांस टेक्नोलॉजी को यूज कर पा रहे हैं लेकिन दोस्तों हर जनरेशन के लोग ऐसा ही सोचते हैं लेकिन यह भी कहना गलत नहीं होगा साइंस और टेक्नोलॉजी के मामले में जो हमने तरक्की की है वह बहुत ही जल्दी की है क्योंकि आज की टेक्नोलॉजी हम यूज कर रहे हैं वह आज से 40 50 साल पहले महेश एक कल्पना ही थी अब केवल 40 और 50 साल के अंदर हमारी टेक्नोलॉजी बहुत एडवांस हो चली है तो दोस्तों आज मैं बताऊंगा कैसा होगा हमारा फ्यूचर

आज से 150,200 साल पहले इंसान की एवरेज लाइव 40 से 50 साल थी जो आज बढ़कर सन 2018 में 70 से 80 साल हो चुकी है आपने कई बार सुना होगा कि पहले के लोग ज्यादा जिया करते थे लेकिन दोस्तों वह सिर्फ कहीं बातें हैं हमारे पास इसका कोई भी प्रूफ नहीं है पहले के लोग जाता इसलिए नहीं जी पाते थे

 क्योंकि उनके पास आज के लोगों की तरह मेडिकल फैसिलिटी नहीं थी क्योंकि पहले के लोगों को जो भी बीमारी है हुआ करती थी वह उनका इलाज नहीं करवा पाते थे लेकिन आज के लोगों के पास मेडिकल फैसिलिटी होने की वजह से वह अपनी बीमारियों का इलाज करवा लिया करते हैं और ज्यादा जिया करते हैं तो यह तो था प्रजेंट के बारे में अब बात करते हैं फ्यूचर के बारे मे कैसा होगा हमारा फीचर

नैनो टेक्नोलॉजी इस टेक्नोलॉजी के बारे में दोस्तों आपने तो सुना ही होगा इस टेक्नोलॉजी के माध्यम से हम फ्यूचर में इंसान के दिमाग और हृदय की पावर को बढ़ा पाएंगे जिससे बहुत सी बीमारियों का सलूशन मिल पाएगा और जो हमारे दिमाग और दिल की पावर बढ़ जाएगी तो हम ज्यादा बिजी पाएंगे नैनो टेक्नोलॉजी की मदद से हम कैंसर जैसी बीमारियों से भी आराम से लड़ पाएंगे नैनो टेक्नोलॉजी के माध्यम से हम इंसान के शरीर के अंदर इंजेक्शन के द्वारा छोटे छोटे रोबोट को डाल पाएंगे जो हमारे शरीर के उस हिस्से में जाकर जहां हमारे शरीर के अंदर वायरस इन्फेक्टेड है के पास जाकर हमारे ब्लड सेल्स जो खराब हो चुके हैं उन्हें रिपेयर कर पाएगी और हमारे भाइयों को बहुत ही जल्द से जल्द ठीक कर पाएंगे इस प्रक्रिया के लिए हमें महीने 2 महीने नहीं रुकना पड़ेगा

क्योंकि यह बहुत ही आसानी और जल्दी से हो जाए करेगी नैनो टेक्नोलॉजी के माध्यम हम बहुत सी बीमारियों से मुक्त हो पाएंगे लगभग ज्यादातर बीमारियों से हम नैनो टेक्नोलॉजी के माध्यम से किया करेंगे और दोस्तों मैं आपको यह बता दूं या कोई कल्पना नहीं है इस टेक्नोलॉजी की खोज हो चुकी है और शायद भविष्य में हम इस टेक्नोलॉजी को देख पाए

और जैसा कि हम जानते हैं कि आज के समय में हमारे पास डॉक्टर की बहुत कमी है जिसकी वजह से बहुत से लोग बिना ही ट्रीटमेंट के मर जाया करते हैं फ्यूचर में डॉक्टर्स की जगह पर रोबोट करेंगे सर्जरी जैसे जटिल काम डॉक्टरों की जगह पर जब रोबोट ले लेंगे तो डॉक्टरों की कमी नहीं होगी और इंसान को ज्यादा से ज्यादा ट्रीटमेंट मिला करेगा जिसकी वजह से लोगों को अच्छे से अच्छा ट्रीटमेंट मिल पाएगा और तो और फ्यूचर में हम उम्र का बढ़ना प्लीज रोक पाएंगे पूरी तरीके से रोकना नहीं पर बहुत मात्रा में रोक पाएंगे जैसे आज जो 70 साल का इंसान बुरा दिखता है वह 70 साल का इंसान फीचर में आज के मुकाबले 20 साल का दिखाई देगा और यह कोई सपना नहीं यह सब नैनो टेक्नोलॉजी के माध्यम से होगा और मेडिकल साइंस का यह भी मानना है कि फ्यूचर में हम इंसान की जिंदगी को 500 से 600 साल तक बढ़ा सकते हैं हां दोस्तों यह तो सबको पता है जो आया है वह जाएगा भी पर यह तो कहीं नहीं लिखा है कि हम इंसान की लाइफ को बड़ा नहीं सकते हैं फ्यूचर में आपके देखने की क्षमता भी बढ़ जाएगी वह भी एडवांस उपकरणों के कारण फ्यूचर में आपको ऐसे एडवांस लाइसेंस प्राप्त होंगे जो झूम करने और दूरबीन का काम करेंगे यह किसी भी इंसान की आइडेंटिटी फाइंड करने के काम आएंगे लेकिन इन सबके बावजूद हमारी आज की जनसंख्या है 7 बिलियन और यहां आज से 1000 साल बाद लगभग यहां हो जाएगी 1000 बिलियन तो यह भी सीधी सी बात है कि हमारी पृथ्वी ओवरलोड हो जाएगी और हमें किसी दूसरे घर की जरूरत पड़ेगी और साइंस आज से ही दूसरे प्लेनेट की खोज में लगा हुआ है जहां पर इंसान जीवन व्यतीत कर सकें जहां का हवा पानी वातावरण इंसान के जीने के मुताबिक हो और इतने समय बाद हमारी पृथ्वी का वातावरण भी बहुत परिवर्तित हो जाएगा सूरज का ताप काफी बढ़ जाएगा और साथ ही समुंदर का स्तर भी बहुत ही बढ़ जाएगा जिस से कई शहर के शहर पानी में डूब जाएगी पूरी दुनिया इंटरनेट पर डिपेंड हो जाएगी सब कुछ एक दूसरे से जुड़ जाएगा इंटरनेट के जरिए हो सकता है

 आप सरकार की परमिशन के जरिए सोच भी ना पाए सरकार आपकी सोच पर भी पाबंदी लगा देगी अभी जो हम sources इस्तेमाल कर रहे हैं जैसे डीजल पेट्रोल कोयेला यह सब वर्तमान में खत्म हो जाएंगे और हमारा विज्ञान ऐसा इंदन तलाश कर लेगा जिससे नेचुरल एनर्जी पर हमारी गाड़ियां वाहन चल सके भविष्य में सभी कार इलेक्ट्रिसिटी से चलेगी और हमारी दुनिया का पॉपुलेशन बढ़ने के कारण हवा में जुड़ेंगी भी यदि हम जमीन पर नहीं अपने कारों को हवा में भी चला पाएंगे दोस्तों यह तोता फीचर के बारे में कि कैसी होगी भविष्य में हमारी टेक्नोलॉजी जिसमें की ऐसी बेहतरीन टेक्नोलॉजी का नमूना आज भी हम देख पा रहे हैं लेकिन यह तो जब भी पॉसिबल होगा ना क्योंकि कोई भी सभ्यता जब ज्यादा तरक्की कर लेती है तो वह नष्ट हो जाती है या मेरा भी मानना है हम इस टेक्नोलॉजी तक पहुंच सकते हैं

लेकिन अगर तीसरा वर्ल्ड वॉर हुआ तो हम इस टेक्नोलॉजी शायद ही कभी पहुंच पाए क्योंकि किसी भी टेक्नोलॉजी को प्राप्त करने के लिए एकता बहुत जरूरी है और हमारी दुनिया में आज के समय में यह बहुत ही नामुमकिन बात लगती है क्योंकि कुछ ऐसे लोग हैं जो हमारी दुनिया को तरक्की से नीचे की ओर खींच लेते हैं और धर्म के नाम पर या फिर रंग के नाम पर एक दूसरे में उद्धार करवा देते हैं दोस्तों यह बहुत ही गलत बात है मेरा मानना यह है कि हम इंसान हैं धर्म तो हमने यहां आकर बनाएं और माने या अच्छी बात है लोग धर्म को मानते हैं यह बहुत ही अच्छी बात है क्योंकि आज तक साइंस भी यहां नहीं बता पाया कि इंसान का जन्म हुआ कैसे यह आज भी एक रहस्य है इसलिए कहीं ना कहीं हम भी यह मानते हैं कि कि कोई तो है जिसने हमें बनाया लेकिन वह यह तो नहीं चाहेगा कि हम एक दूसरे को मारे इसलिए धर्म के नाम पर लड़ाई नहीं करनी चाहिए आज के लिए बस इतना ही



धन्यवाद

Comments

Popular posts from this blog

दुनिया की खतरनाक पाच पर्जातिया

क्या आप सब यह जानते है की हमारी दुनिया में कितनी खतरनाक खतरनाक जीव की प्रजातियां पाई जाती है कुछ जीव तो देखने में बोहोत ही सरल और अच्छे दिखाई देते है पर बोहोत ही खतरनाक होते है तो में कुछ जीवो के बारे में आप सभी को बताता हूं 

1.ब्राजीलियन वेंडिंग स्पाइडर
यहां स्पाइडर साउथ अफ्रीका के घाने जंगल में पाई जाती है और गिनीस बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड के अनुसार इस मकड़ी को सबसे ख़तनाक मकड़ी माना जाता है और यह मकड़ी इतनी खतरनाक है यह अपने सिकार की तरफ बड़ी ही तेजी से जाती है और एक ही पल में अपने सीकार का खतामा कर देती है और यह मकड़ी अपने से तीन गुना जायदा बड़े सीकर को भी आसानी से मार देती है इसलिए इस मकड़ी को सबसे ख़तरनाक मकड़ी मानी जाती है.

2. पिराना फिश
इसके ईन नोकीले दातो की वजह से से ही इस मछली का नाम पिराना फिश रखा गया है इस मछली के यह दात किसी बिल्ड से कम नहीं होते है यहां दात इतने पेने होते है कि एक ही वार में किसी भी इन्सान के दो टुकड़े कर सकती है पिराना फिश समुन्दर या बड़ी नदी में बोहोत अधिक मात्रा में पाई जाती है और यह मछली अक्सर झुंड म सीकर करती है और आगर कोई सीकर इनके चुंगुल में फस जाता ह…

ज्ञान की सबसे अच्छी बात

ज्ञान की सबसे अच्छी बात

ज्ञान किसी व्यक्ति या किसी चीज़, जैसे तथ्यों, सूचनाओं, विवरणों या कौशल की परिचितता, जागरूकता या समझ है, जिसे अनुभव, शिक्षा, या सीखने के द्वारा अनुभव या शिक्षा के माध्यम से अधिग्रहित किया जाता है। ज्ञान किसी विषय की सैद्धांतिक या व्यावहारिक समझ को संदर्भित कर सकता है। यह अंतर्निहित (व्यावहारिक कौशल या विशेषज्ञता के साथ) या स्पष्ट हो सकता है (जैसा कि किसी विषय की सैद्धांतिक समझ के साथ); यह कम या ज्यादा औपचारिक या व्यवस्थित हो सकता है। ज्ञान के अध्ययन को महामारी कहा जाता है; दार्शनिक प्लेटो ने प्रसिद्ध रूप से "उचित सत्य विश्वास" के रूप में परिभाषित ज्ञान को परिभाषित किया है, हालांकि इस परिभाषा को अब कुछ विश्लेषणात्मक दार्शनिकों द्वारा उद्धृत किया गया है [उद्धरण वांछित] समस्याग्रस्त होने के कारण गेटियर की समस्याएं अन्यथा प्लैटोनिक परिभाषा की रक्षा करती हैं। हालांकि, ज्ञान की कई परिभाषाएं और सिद्धांतों को समझाने के लिए सिद्धांत मौजूद हैं।

आपकी सबसे प्रिय हिन्दी कविता कौन सी है?

मुझे सबसे अधिक हिंदी की दो कवितायें पसंद है | एक तो पुष्प की अभिलाषा जिसका उल्लेख अनेक उत्तरो में हुआ है, फिर भी मैं नीचे दोबारा लिखती हूँ : चाह नहीं मैं सुरबाला के गहनों में गूँथा जाऊँ, चाह नहीं, प्रेमी-माला में बिंध प्यारी को ललचाऊँ, चाह नहीं, सम्राटों के शव पर हे हरि, डाला जाऊँ, चाह नहीं, देवों के सिर पर चढ़ूँ भाग्य पर इठलाऊँ। मुझे तोड़ लेना वनमाली! उस पथ पर देना तुम फेंक, मातृभूमि पर शीश चढ़ाने जिस पर जावें वीर अनेक - माखनलाल चतुर्वेदी दूसरी कविता हैं, जो बीत गयी सो बात गयी| जीवन में एक सितारा था माना वह बेहद प्यारा था वह डूब गया तो डूब गया अम्बर के आनन को देखो कितने इसके तारे टूटे कितने इसके प्यारे छूटे जो छूट गए फिर कहाँ मिले पर बोलो टूटे तारों पर कब अम्बर शोक मनाता है जो बीत गई सो बात गई जीवन में वह था एक कुसुम थे उसपर नित्य निछावर तुम वह सूख गया तो सूख गया मधुवन की छाती को देखो सूखी कितनी इसकी कलियाँ मुरझायी कितनी वल्लरियाँ