Skip to main content

जानिये क्या क्या खाने से कैल्शियम भरपूर मिलता है।

जानिये क्या क्या खाने से कैल्शियम भरपूर मिलता है।


स्वास्थ्य विशेषज्ञ के अनुसार जवानों और बुजुर्गो के लिए रोजाना 1000 से 1300 मिली ग्राम , किशोरों के लिए रोजाना 1300 मिली ग्राम, बच्चो के लिए रोजाना 700 से 1000 मिली ग्राम, और 1 वर्ष या 1 वर्ष से छोटे बच्चो के लिए रोजाना 250 से 300 मिली ग्राम कैल्शियम की जरुरत होती है। कैल्शियम की कमी से हड्डियों का कमजोर होना, हाथ पैरो में दर्द रहना, बाल झड़ना, नाख़ून कमजोर होना,दांतो की समस्या, दिल की समस्या जैसे बहुत सी परेशानी होती है। जिसके बारे में हम पहले भी बता चुके है।

आज हम आपके साथ शेयर कर रहे है कैल्शियम से भरपूर सुपर फूड्स की जानकारी। ऐसे फूड्स जो कभी भी आपके शरीर में कैल्शियम की कमी नही होने देंगे।

1 दूध


दूध कैल्शियम का सबसे अच्छा स्रोत है। इसको लेने से हमारे शरीर में कैल्शियम की कमी नही होती है। दूध से प्राप्त होने वाले कैल्शियम को हमारा शरीर आसानी से पचा लेता है। रोजाना एक कप दूध में एक चम्मच भुने हुआ तिल का पाउडर मिलाकर दिन में 3 बारे पीने से शरीर में कैल्शियम की जरुरत पूरी होती है।

2 आंवला

आंवले में एंटीऑक्सीडेंट के गुण पाए जाते है।आंवले में कैल्शियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है। जो शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है। इसे फल, कैंडी, मुरब्बे, जूस,आचार आदि के रूप में खाया जा सकता है। इसके साथ ही इसे पानी में उबाल कर अपने डाइट में भी शामिल किया जा सकता है।

3 तिल


कैल्शियम की कमी को दूर करने के लिए तिल भी एक बहुत अच्छा विकल्प है। एक बड़े चम्मच तिल में लगभग 88 मिली ग्राम कैल्शियम पाया जाता है। इसे पीस कर पाउडर के रूप में भी खाया जा सकता है। या फिर इसे सूप और  सलाद आदि में भी मिला कर खाया जा सकता है।

4 जीरा


1 गिलास पानी को उबाल ले और इसे ठंडा होने के बाद इसमें एक छोटा चम्मच जीरा पाउडर को मिलाये। इस पानी को दिन में 2 बारे पीने से कैल्शियम की कमी दूर होती है।

5 दही


दही में कैल्शियम अच्छी मात्रा में पाया जाता है। रोजाना एक कप यानी 200 ग्राम दही खाने से शरीर के लिए जरूरी कैल्शियम को कमी पूरी हो जाती है। एक कप दही में लगभग 400 मिली ग्राम कैल्शियम पाया जाता है।


6 अंजीर


कैल्शियम की कमी को दूर करने के लिए अंजीर बहुत ही फायदेमंद फल है। इसमें कैल्शियम के साथ साथ आयरन की भी भरपूर मात्रा पाई जाती है।इसके अलावा असम फाइबर भी काफी मात्रा में पाया जाता है। रोजाना 3 से 4 अंजीर को खाने से या फिर इसे दूध में उबाल कर खाने से कैल्शियम की कमी को काफी हद तक दूर किया जा सकता है।

7 रागी


रागी एक तरह का अनाज होता है। जिसके अंदर कैल्शियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है। इसका उपयोग आटे के रूप में किया जाता है। रोजाना 1 कप रागी के आटे का सेवन करने से शरीर को प्रयाप्त मात्रा में कैल्शियम उपलब्ध होता है।

8 गुग्गल

गुग्गल एक आयुर्बेदिक हर्ब है।जो शरीर में कैल्शियम की कमी को काफी हद तक दूर करता है। रोजाना लगभग 250 मिली ग्राम से 2 मिली ग्राम तक गुग्गल गोंद खाने से शरीर में कैल्शियम की कमी नही होती है।
इसकी आटे के लड्डू में या हलवे में डाल कर खाया जा सकता है।

9 सोयाबीन


कैल्शियम की कमी को दूर करने का सबसे आसान तरीका है। खाने में सोयाबीन का ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल करना। एक कप सोयाबीन को नमक वाले पाने में उबाले और इस उबले हुआ सोयाबीन को नाश्ते में खाएं।

साथ ही आप सोयाबीन को पीस कर आटे के रूप में भी उपयोग कर सकते है और इस आटे को रोजाना गेहू के आटे में मिलाकर रोटी बनाकर खाने से भी कैल्शियम की कमी को आसानी से दूर किया जा सकता है।

10 संतरा


संतरा भी कैल्शियम की कमी को दूर करने भी काफी सहायक होता है। संतरे को विटामिन -सी के स्रोत के रूप में जाना जाता है। लेकिन विटामिन-सी के साथ साथ संतरे से शरीर को कैल्शियम भी काफी मात्रा में उपलब्ध होता है।
रोजाना एक संतरा खाने से शरीर में हो रही कैल्शियम को कामी को काफी आसानी से दूर किया जा सकता है।

तो दोस्तों ये है वो सुपर फूड्स जो आपको भरपूर कैल्शियम देते है और पूरी तरह से आपको हेल्थी बनाये रखते है।


धन्यवाद

Comments

  1. Commenting on a blog is an art. Good comments create relations. You’re doing great work. Keep it up.

    ReplyDelete
  2. Thank you for your informative article, I have been doing research on this subject, and for three days I keep entering sites that are supposed to have what I am searching for, only to be discouraged with the lack of what I needed. Thank you again.

    ReplyDelete
  3. Great article. Couldn’t be write much better!

    ReplyDelete

Post a Comment

Popular posts from this blog

दुनिया की खतरनाक पाच पर्जातिया

क्या आप सब यह जानते है की हमारी दुनिया में कितनी खतरनाक खतरनाक जीव की प्रजातियां पाई जाती है कुछ जीव तो देखने में बोहोत ही सरल और अच्छे दिखाई देते है पर बोहोत ही खतरनाक होते है तो में कुछ जीवो के बारे में आप सभी को बताता हूं 

1.ब्राजीलियन वेंडिंग स्पाइडर
यहां स्पाइडर साउथ अफ्रीका के घाने जंगल में पाई जाती है और गिनीस बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड के अनुसार इस मकड़ी को सबसे ख़तनाक मकड़ी माना जाता है और यह मकड़ी इतनी खतरनाक है यह अपने सिकार की तरफ बड़ी ही तेजी से जाती है और एक ही पल में अपने सीकार का खतामा कर देती है और यह मकड़ी अपने से तीन गुना जायदा बड़े सीकर को भी आसानी से मार देती है इसलिए इस मकड़ी को सबसे ख़तरनाक मकड़ी मानी जाती है.

2. पिराना फिश
इसके ईन नोकीले दातो की वजह से से ही इस मछली का नाम पिराना फिश रखा गया है इस मछली के यह दात किसी बिल्ड से कम नहीं होते है यहां दात इतने पेने होते है कि एक ही वार में किसी भी इन्सान के दो टुकड़े कर सकती है पिराना फिश समुन्दर या बड़ी नदी में बोहोत अधिक मात्रा में पाई जाती है और यह मछली अक्सर झुंड म सीकर करती है और आगर कोई सीकर इनके चुंगुल में फस जाता ह…

ज्ञान की सबसे अच्छी बात

ज्ञान की सबसे अच्छी बात

ज्ञान किसी व्यक्ति या किसी चीज़, जैसे तथ्यों, सूचनाओं, विवरणों या कौशल की परिचितता, जागरूकता या समझ है, जिसे अनुभव, शिक्षा, या सीखने के द्वारा अनुभव या शिक्षा के माध्यम से अधिग्रहित किया जाता है। ज्ञान किसी विषय की सैद्धांतिक या व्यावहारिक समझ को संदर्भित कर सकता है। यह अंतर्निहित (व्यावहारिक कौशल या विशेषज्ञता के साथ) या स्पष्ट हो सकता है (जैसा कि किसी विषय की सैद्धांतिक समझ के साथ); यह कम या ज्यादा औपचारिक या व्यवस्थित हो सकता है। ज्ञान के अध्ययन को महामारी कहा जाता है; दार्शनिक प्लेटो ने प्रसिद्ध रूप से "उचित सत्य विश्वास" के रूप में परिभाषित ज्ञान को परिभाषित किया है, हालांकि इस परिभाषा को अब कुछ विश्लेषणात्मक दार्शनिकों द्वारा उद्धृत किया गया है [उद्धरण वांछित] समस्याग्रस्त होने के कारण गेटियर की समस्याएं अन्यथा प्लैटोनिक परिभाषा की रक्षा करती हैं। हालांकि, ज्ञान की कई परिभाषाएं और सिद्धांतों को समझाने के लिए सिद्धांत मौजूद हैं।

आपकी सबसे प्रिय हिन्दी कविता कौन सी है?

मुझे सबसे अधिक हिंदी की दो कवितायें पसंद है | एक तो पुष्प की अभिलाषा जिसका उल्लेख अनेक उत्तरो में हुआ है, फिर भी मैं नीचे दोबारा लिखती हूँ : चाह नहीं मैं सुरबाला के गहनों में गूँथा जाऊँ, चाह नहीं, प्रेमी-माला में बिंध प्यारी को ललचाऊँ, चाह नहीं, सम्राटों के शव पर हे हरि, डाला जाऊँ, चाह नहीं, देवों के सिर पर चढ़ूँ भाग्य पर इठलाऊँ। मुझे तोड़ लेना वनमाली! उस पथ पर देना तुम फेंक, मातृभूमि पर शीश चढ़ाने जिस पर जावें वीर अनेक - माखनलाल चतुर्वेदी दूसरी कविता हैं, जो बीत गयी सो बात गयी| जीवन में एक सितारा था माना वह बेहद प्यारा था वह डूब गया तो डूब गया अम्बर के आनन को देखो कितने इसके तारे टूटे कितने इसके प्यारे छूटे जो छूट गए फिर कहाँ मिले पर बोलो टूटे तारों पर कब अम्बर शोक मनाता है जो बीत गई सो बात गई जीवन में वह था एक कुसुम थे उसपर नित्य निछावर तुम वह सूख गया तो सूख गया मधुवन की छाती को देखो सूखी कितनी इसकी कलियाँ मुरझायी कितनी वल्लरियाँ