Skip to main content

दुनिया की कुछ अजीब बीमारियां

दुनिया की कुछ अजीब बीमारियां

 दोस्तो आज में आपको बताने जा रहा हूं कुछ ऐसी बीमारियों के बारे में जो कि आपने पहले कभी नहीं सुनी होंगी इन बीमारियों की वजह से कुछ लोगो ने कितनी दिक्कत झेली है

1 बायेजिद हुसैन  

ये एक बच्चा है जो कि बांग्लादेश का है ये बच्चा एक ऐसी बीमारी से पीड़ित है जिसके चलते वो 4 साल की उम्र में वृद्धि इंसान की तरह दिखाई देता है इस बच्चे को प्रोजेरिया नमक एक बीमारी है इस बीमारी के कारण किसी भी इंसान के शरीर पर उम्र का असर समन्य दर से 8 गुना ज्यादा तेजी से होता है और इस बीमारी के चलते कोई भी व्यक्ति 13 साल से ज्यादा जिंदा नहीं रहे पाता है और इस बीमारी कि वजह से ही यह बच्चा 4 साल उम्र में वृद्धि इंसान की तरह दिखाई देता है इस कारण यह बच्चा स्कूल भी नहीं जा सकता क्युकी दूसरे बच्चे हुसैन से डरते है बहुत कोसिसो के बाद भी यह बच्चा ठीक नहीं हो पाया है

इस बीमारी के लक्षण गूगल पर कुछ इस प्रकार दिए गए है
एक प्रगतिशील अनुवांशिक विकार जो बच्चों को तेजी से उम्र का कारण बनता है।
बहुत दुर्लभ
प्रति वर्ष 100 हजार से कम मामले (भारत)
एक चिकित्सा पेशेवर द्वारा इलाज योग्य
एक चिकित्सा निदान की आवश्यकता है
प्रयोगशाला परीक्षण या इमेजिंग अक्सर आवश्यक है
पुराना: वर्षों तक रह सकता है या आजीवन रह सकता है
अनुवांशिक उत्परिवर्तन यादृच्छिक रूप से होता है और विरासत में नहीं मिलता है।
लक्षण, जैसे धीमी वृद्धि और बालों के झड़ने, पहले दिखाई देने लगते हैं
जीवन के वर्ष या दो।
प्रोजेरिया के लिए कोई इलाज नहीं है, लेकिन दवा लक्षणों को कम कर सकती है या
प्रगति में देरी
युग प्रभावित
0-2
3-5
6-13
14-18
19-40
41-60
60 +
लोग अनुभव कर सकते हैं:
दर्द क्षेत्र: छाती में
विकास: बढ़ने में विफलता, लघु स्तर, धीमी वृद्धि, या
अविकसित जबड़े
त्वचा: चकत्ते या शिकन
यह भी आम है: बौनावाद, बढ़ी हुई सिर, बालों के झड़ने, संयुक्त कठोरता, का नुकसान
मांसपेशी, ऑस्टियोआर्थराइटिस, या शारीरिक विकृति
चिकित्सा सलाह के लिए एक डॉक्टर से परामर्श करें
नोट: आपके द्वारा देखी जाने वाली जानकारी का वर्णन आमतौर पर चिकित्सा स्थिति के साथ होता है, लेकिन
हर किसी पर लागू नहीं होता है। यह जानकारी चिकित्सा सलाह नहीं है, इसलिए सुनिश्चित करें कि आप
यदि आपके पास चिकित्सा समस्या है तो एक स्वास्थ्य देखभाल प्रदाता से संपर्क करें। अगर आपको लगता है कि आपके पास हो सकता है
progeria
इसे भी कहा जाता है: हचिसन-गिलफोर्ड प्रोजेरिया सिंड्रोम
लक्षण
एक चिकित्सा निदान की आवश्यकता है
लक्षण, जैसे धीमी वृद्धि और बालों के झड़ने, पहले दिखाई देने लगते हैं
जीवन के वर्ष या दो के भीतर।

2 एडम रेनर 

इस व्यक्ति कि ज़िन्दगी के बारे में बहुत कम ही लोग जानते है इसलिए हमारे पास भी कुछ ज्यादा जानकारी नहीं है पर हम आपको फिर भी बहुत कुछ बता सकते है इस इंसान की बीमारी मेडिकल लाइन की दुनिया में एक बहुत ही अलग नमूना पेस करती है एडम रेनर की लम्बाई 21 साल की उम्र तक सिर्फ 4 फुट ही थी डॉक्टरों ने उसे बोना घोषित कर दिया था पर उसके बाद कुछ ऐसा चमत्कार हुआ कि वह 32 साल की उम्र तक आते आते 7 फुट 2 इंच का एक लंबा इंसान बन गया एक बीमारी के कारण एडम रेनर का शरीर साल में लगभग 3 इंची से ज्यादा भड़ने लगा और शरीर में हुए इस आसाधारण विकास से उसके शरीर की हड्डियां कमजोर होकर गलने लगी जिस कारण वहा अपाहिज बन गया एडम रेनर की दिमाग की पियुस ज्ञांथी को इस बीमारी का जिम्मेदार माना जाता है दिमाग के उस हिस्से में तियुमर होने ही वजह से उसका शरीर बहुत तेजी से बढ़ने लगा था एडम रेनर की मित्यू 51 साल की उम्र में एक old age home में हुई और जब उनकी लम्बाई 7 फीट 8 इंच थी एडम रेनर पहले इसे व्यति थे जिन्होंने अपनी ज़िन्दगी में एक बोने और सबसे लंबे इंसान कि जिंदगी जी थी


ब्रेन ट्यूमर के लक्षण गूगल पर कुछ इस प्रकार दिए गए है
अगर आपको आए दिन सिर दर्द की शिकायत रहती है जो दवा खाने से ठीक हो जाती है लेकिन फिर उभर आती है तो सावधान हो जाएं, क्योंकि ये लक्षण ब्रेन ट्यूमर की सबसे शुरुआती स्टेज के भी हो सकते हैं। ब्रेन ट्यूमर एक खतरनाक बीमारी है। अगर सही समय पर इस बीमारी का पता चल जाए तो इससे बचाव संभव है। इलाज में देरी होने पर ये जानलेवा हो सकता है और इससे मानसिक विक्षिप्तता भी आ सकती है। ब्रेन ट्यूमर की स्थिति में दिमाग में बहुत सी कोशिकाएं या कोई एक कोशिका असामान्य रूप से बढ़ती रहती है जिसके कारण अन्य कोशिकाएं क्षतिग्रस्त होती रहती हैं। कई बार ब्रेन ट्यूमर अनुवांशिक भी हो सकता है और कई बार रेडिएशन में ज्यादा रहने या केमिकल के संपर्क में रहने से भी ये रोग हो जाता है। ब्रेन ट्यूमर को उसके शुरुआती लक्षणों से पहचाना जा सकता है इसलिए इन लक्षणों को आपको भी जानना चाहिए


1.  सिर दर्द 
2.  उल्टी और मितली
3.  शरीर का संतुलन
4.  दौरे पड़ना
5.  पैरालिसिस जैसा महसूस होना
6.  बोलने में परेशानी
7.  चिड़चिड़ापन और स्वभाव परिवर्तन
8.  सुनने में समस्या होना
9.   हाथ-पैरों में ऐंठन
10. कमजोरी का एहसास होना

अगर आप को ब्रेन ट्यूमर है तो आपको ये सब लक्षण का ध्यान रखना होगा
धन्यवाद 

Comments

Popular posts from this blog

दुनिया की खतरनाक पाच पर्जातिया

क्या आप सब यह जानते है की हमारी दुनिया में कितनी खतरनाक खतरनाक जीव की प्रजातियां पाई जाती है कुछ जीव तो देखने में बोहोत ही सरल और अच्छे दिखाई देते है पर बोहोत ही खतरनाक होते है तो में कुछ जीवो के बारे में आप सभी को बताता हूं 

1.ब्राजीलियन वेंडिंग स्पाइडर
यहां स्पाइडर साउथ अफ्रीका के घाने जंगल में पाई जाती है और गिनीस बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड के अनुसार इस मकड़ी को सबसे ख़तनाक मकड़ी माना जाता है और यह मकड़ी इतनी खतरनाक है यह अपने सिकार की तरफ बड़ी ही तेजी से जाती है और एक ही पल में अपने सीकार का खतामा कर देती है और यह मकड़ी अपने से तीन गुना जायदा बड़े सीकर को भी आसानी से मार देती है इसलिए इस मकड़ी को सबसे ख़तरनाक मकड़ी मानी जाती है.

2. पिराना फिश
इसके ईन नोकीले दातो की वजह से से ही इस मछली का नाम पिराना फिश रखा गया है इस मछली के यह दात किसी बिल्ड से कम नहीं होते है यहां दात इतने पेने होते है कि एक ही वार में किसी भी इन्सान के दो टुकड़े कर सकती है पिराना फिश समुन्दर या बड़ी नदी में बोहोत अधिक मात्रा में पाई जाती है और यह मछली अक्सर झुंड म सीकर करती है और आगर कोई सीकर इनके चुंगुल में फस जाता ह…

ज्ञान की सबसे अच्छी बात

ज्ञान की सबसे अच्छी बात

ज्ञान किसी व्यक्ति या किसी चीज़, जैसे तथ्यों, सूचनाओं, विवरणों या कौशल की परिचितता, जागरूकता या समझ है, जिसे अनुभव, शिक्षा, या सीखने के द्वारा अनुभव या शिक्षा के माध्यम से अधिग्रहित किया जाता है। ज्ञान किसी विषय की सैद्धांतिक या व्यावहारिक समझ को संदर्भित कर सकता है। यह अंतर्निहित (व्यावहारिक कौशल या विशेषज्ञता के साथ) या स्पष्ट हो सकता है (जैसा कि किसी विषय की सैद्धांतिक समझ के साथ); यह कम या ज्यादा औपचारिक या व्यवस्थित हो सकता है। ज्ञान के अध्ययन को महामारी कहा जाता है; दार्शनिक प्लेटो ने प्रसिद्ध रूप से "उचित सत्य विश्वास" के रूप में परिभाषित ज्ञान को परिभाषित किया है, हालांकि इस परिभाषा को अब कुछ विश्लेषणात्मक दार्शनिकों द्वारा उद्धृत किया गया है [उद्धरण वांछित] समस्याग्रस्त होने के कारण गेटियर की समस्याएं अन्यथा प्लैटोनिक परिभाषा की रक्षा करती हैं। हालांकि, ज्ञान की कई परिभाषाएं और सिद्धांतों को समझाने के लिए सिद्धांत मौजूद हैं।

आपकी सबसे प्रिय हिन्दी कविता कौन सी है?

मुझे सबसे अधिक हिंदी की दो कवितायें पसंद है | एक तो पुष्प की अभिलाषा जिसका उल्लेख अनेक उत्तरो में हुआ है, फिर भी मैं नीचे दोबारा लिखती हूँ : चाह नहीं मैं सुरबाला के गहनों में गूँथा जाऊँ, चाह नहीं, प्रेमी-माला में बिंध प्यारी को ललचाऊँ, चाह नहीं, सम्राटों के शव पर हे हरि, डाला जाऊँ, चाह नहीं, देवों के सिर पर चढ़ूँ भाग्य पर इठलाऊँ। मुझे तोड़ लेना वनमाली! उस पथ पर देना तुम फेंक, मातृभूमि पर शीश चढ़ाने जिस पर जावें वीर अनेक - माखनलाल चतुर्वेदी दूसरी कविता हैं, जो बीत गयी सो बात गयी| जीवन में एक सितारा था माना वह बेहद प्यारा था वह डूब गया तो डूब गया अम्बर के आनन को देखो कितने इसके तारे टूटे कितने इसके प्यारे छूटे जो छूट गए फिर कहाँ मिले पर बोलो टूटे तारों पर कब अम्बर शोक मनाता है जो बीत गई सो बात गई जीवन में वह था एक कुसुम थे उसपर नित्य निछावर तुम वह सूख गया तो सूख गया मधुवन की छाती को देखो सूखी कितनी इसकी कलियाँ मुरझायी कितनी वल्लरियाँ